ट्रेन में मिलिट्री के जवान से हुई चूत में ठुकाई


Click to Download this video!
Comments Off on ट्रेन में मिलिट्री के जवान से हुई चूत में ठुकाई
loading...

हाय फ्रेंड्स, आप लोगो का नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम में स्वागत है। मैं रोज ही इसकी सेक्सी स्टोरीज पढ़ती हूँ और आनन्द लेती हूँ। आप लोगो को भी यहाँ की सेक्सी और रसीली स्टोरीज पढने को बोलूंगी। आज फर्स्ट टाइम आप लोगो को अपनी कामुक स्टोरी सुना रही हूँ। कई दिन से मैं लिखने की सोच रही थी। अगर मेरे से कोई गलती हो तो माफ़ कर देना।
मेरा नाम आशिमा गुप्ता है। मैं 26 साल की हूँ और फिगर 36 30 36 का है। मैं काफी सेक्सी दिखती हूँ। कितने लोगो का लंड मुझे देखकर खड़ा हो जाता है। मैं एक बड़ी कम्पनी में जॉब करती हूँ। मेरा अक्सर बिजनेस टूर रहता है जिसमे मुझे कई जगह जाना पड़ता है। अभी मैं कानपूर में रह रही हूँ। मेरे जॉब में मुझे अच्छी सेलरी मिलती है पर इसमें यात्रा बहुत करनी होती है। हर हफ्ते मेरा बिजेनस टूर रहता है। मैं कलकत्ता, मुंबई, बंगलौर जैसे बड़े बड़े शहरों में जाकर अपनी कम्पनी की बूक्स का प्रचार करती हूँ। देखने में मैं काफी हॉट और सेक्सी बंदी हूँ। मेरा बदन गद्दे जैसा मोल मटोल और सेक्सी है। अक्सर रात में ट्रेन से सफर करने के दौरान मैं साथी यात्रिओं से चुदवा लेती हूँ। फ्रेंड्स मेरी किस्मत भी इतनी तेज है की हर बिजनेस टूर पर किसी न किसी मर्द का जुगाड़ हो जाता है।
पिछले बार बंगलौर में मैं जिस होटल में रुकी थी उसके वेटर के साथ ही रात में मैं चुदवा लिया था। मैं सेक्स और प्यार को जिन्दगी का सबसे अहम हिस्सा मानती हूँ। सेक्स और चुदाई के बिना जिन्दगी अधूरी है। अब स्टोरी पर आती हूँ। मेरे बोस ने मुझे रांची जाने को कहा। वहां पर कई नई प्राइवेट कोचिंग खुल गयी थी जो IIT की तैयारी करवाती थी। इसलिए मुझे अब रांची जाकर नई कोचिंग को अपनी IIT की तैयारी वाली बुक की बारे में प्रेजेंटेशन देना था। मेरे अस्सिस्टेंट ने मेरी टिकट्स बुक करवा दी। 3 दिन बाद को मैं कानपुर स्टेशन पर पहुच गयी और ट्रेन में बैठ गयी। जल्द ही सब लोग आ गये और ट्रेन चल दी। मेरी टिकट्स गरीब रथ के फर्स्ट क्लास में थी। मेरे सामने वाली बर्थ पर एक मिलिट्री का जवान बैठा था। वो आराम से 7 फुट तो होगा ही। उसके मर्दाना जिस्म पर मेरी नजर चली गयी। मैंने उसे मुस्कुराकर हाय बोला। उसने भी मुझे हेलो कहा। हम दोनों की बाते शुरू हो गयी। वो आर्मी की वर्दी में था। हम दोनों की बाते होने लगी। बार बार मेरी नजर उसकी उपर से हल्की खुली शर्ट पर जाती थी। ओह्ह ! वो मर्द बड़ा सेक्सी था। उसका चेहरा काफी सेक्सी था और लम्बी चौड़ी कद काठी बार बार मुझे याद दिला रही थी उसका लंड बड़ा मोटा ताजा होगा।
“आप कहाँ तक जा रही है??” आर्मी जवान बोला
“रांची तक जाउंगी और आप??” मैंने हँसकर पूछा
“मेरी पोस्टिंग भी रांची में है। अभी तो हम जवानो का सामना आये दिन नक्सलवादियों से हो जाता है” वो बोला
मैं चौंक गयी। थोडा डर गयी। क्यूंकि मैं अखबार में रोज नक्सलवादियों के हमले के बारे में पढ़ती थी। वो लोग बड़े खतरनाक होते है। जवान मुझे बताने लगा की कैसे वो लोग उनका सामना करते है। मिलिट्री जवान ने मुझे अपना पैर दिखाया। उसे 2 बार गोली लगी थी। पर फिर भी उसने नक्सलवादियों का सामना किया। उसकी बाते में मुझे बड़ा रोमांच आने लगा।
“आप तो बड़े डेरिंग हो। आप तो असली मर्द हो” मैंने उसकी तारीफ़ करते हुए कहा
वो हँसने लगा और उसके गालो पर डिम्पल पड़ गये।
“आप भी काफी खूबसूरत है” वो बोला
मैं भी हंस दी। क्यूंकि मेरा मन भी उससे दोस्ती करने को कर रहा था। उसकी पर्सनाल्टी मुझे बहुत आकर्षक लग रही थी। उसने अपने बालो को महीन महीन करवा रखा था जैसे मिलिट्री वाले होते है। हम लोगो की बाते होने लगी और दोनों ही खुल गये। मैंने उसे आलू चिप्स ऑफर की तो वो खाने लगा। मैं उसे आज किसी तरह से पटाने के मूड में थी। अगर वो पट जाए तो रात भर के लिए लंड का जुगाड़ हो जाए। वैसे भी दोस्तों रात होने की पता नही क्यों मेरा चुदने का दिल करने लग जाता है। हमारी बाते होने लगी और रात के 9 कब बज गये पता ही नही चला।
“आइये खाना खाइये” मैंने कहा और उसके सामने खाना रख दिया। वो मेरी पूडी सब्जियां खाने लगा। मैंने लाल रंग की हाल्फ स्लीव्स टी शर्ट पहनी थी। मेरे 36” के पुस्ट उभार जवान को साफ़ साफ़ दिख रहे थे। जब जब वो मेरी पूरी हाथ से उठाता था उसकी नजरे मेरे मस्त मस्त दूध पर चली जाती थी। कई बार मिलिट्री जवान खुद को रोक नही पाता था और कई कई देर तक मेरे सुडौल आकार वाले उभारो को घूर घूर के ताड़ता था। मैं भी ऐसा ही चाहती थी। उसे मेरी चूत चाइये थी और मुझे उसका लंड। मैंने हिसाब लगा लिया की अगर वो 7 फुट का है तो उनका लंड आराम से 8 9” का होगा। मैं खूब हंस हंसकर बाते करने लगी।
“आप सिंगल है या मैरिड??” जवान ने पूछा
“सिंगल हूँ। अभी तक कोई सही लड़का शादी के लिए मिला नही” मैंने मुस्कुराकर कहा
“कैसा लड़का चाइये आपको???” वो पूछने लगा
“लम्बा….खूब लम्बा!!” मैंने उसकी आँखों में आँखे डालकर देखा और फिर हम दोनों काफी देर तक एक दूसरे को ताड़ते रहे। बाते होती रही और खाना खत्म हो गया। मैं वाशरूम में जाकर फ्रेश होकर आ गयी। फिर मिलिट्री जवान भी फेश होकर आ गया। उसने हमारे केबिन के दरवाजे को अंदर से लॉक कर लिया। अब ट्रेन में जादातर लोग सोने जा रहे थे क्यूंकि 10 बज गये थे। जवान ने मेरे सामने ही अपनी वर्दी उतार दी। उसकी मसल्स तो सलमान खान की तरह बनी थी। मैं उसके सामने ही अपना स्मार्ट फोन निकालकर बैठ गयी और व्हाट्सअप करने लगी। जवान बनियान और लोअर में मेरे सामने बैठ गया।
मेरी ट्रेन गरीब रथ सरपट सरपट पटरियों पर बिजली की रफ्तार से दौड़ रही थी। अब रात हो चुकी थी। न तो मुझे नींद पड़ रही थी और न ही मिलिट्री जवान को। काफी देर तक मुझे वो घूर घूर के देखता रहा जैसे मुझे बरसों से जानता हो। उसे देखकर मुझे भी कुछ ऐसा लग रहा था। अब वो मुझे चोदने के फुल मूड में आ गया था। मैं तो कबसे तैयार थी। अब हम दोनों के बीच चुदाई हर हाल में होनी थी।
“आइये आपको एक विडियो दिखाऊ!!” वो बोला
मैं भी उसकी बर्थ पर चली गयी। उसने अपने स्मार्ट फोन में विडियो प्ले कर दिया. कुछ कॉमेडी वाले वीडियोस दिखाने लगा. मैं उससे सट कर बैठ गयी. मिलिट्री जवान मेरे पैरो को हाथ लगाने लगा। मैं उसको फोन में विडियो देखना का नाटक कर रही थी। मैंने कुछ नही कहा। मैं सब समझ रही थी. धीरे धीरे उसने जींस के उपर से मेरी जांघ को सहलाना शुरू कर दिया। काफी देर तक सहलाता रहा। इधर मैं भी गर्म हो गयी और मैंने फोन रखकर उसे पकड़ लिया और किस करने लगी। जवान ने मुझे बर्थ पर बैठे बैठे बाहों में जकड़ लिया और गालो पर पप्पी देने लगा। मैंने भी ऐसा ही किया। उसे सब कुछ करने लगा।
“आप बड़ी खुबसुरत है जी!!” वो बोला और उसने मेरे होंठ पर अपना मुंह रख दिया और रसीले होठ चूसने लगा। मुंह चला चलाकर चूसने लगा। ऐसा उसने 5 मिनट किया जिसमे मैं सब कुछ हार गयी। जवान ने मेरी गांड पर हाथ लगाया और मुझे उठाकर अपनी गोद में उठा लिया और खूब प्यार करने लगा। मैं भी उसे उसकी गर्लफ्रेंड की तरह गालो पर और गले पर चुम्मा देने लगी। कुछ देर तक किस चलता रहा।
“आप भी सलमान खान से कम नही हो” मैं बोली
जवान ने मेरी लाल टी शर्ट के उपर से मेरे 36” के मस्त मस्त दूध पर हाथ रख दिए तो मैं “ओह्ह माँ….ओह्ह माँ…उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ….”करने लगी। फ्रेंड्स टी शर्ट में मेरे गद्देदार जिस्म का एक एक कर्व दिख रहा था। मेरी निपल्स की उभरी हुई नोंक साफ़ जवान को दिख रही थी। वो अपने धंधे पर लग गया और मेरे बुस्ब को हाथ से मसलने लगा। वो मुझसे कद काठी में बहुत मजबूत था। मैं उसके मुकाबले एक खिलौना साबित हो रही थी। वो अपने मजबूत पंजों में टी शर्ट के उपर से मेरे दूध को मसलने लगा। मैं सिस्कारियां लेने लगी। मैंने उसे नही रोका। जवान के अंदर का असली चुदासा इन्सान जाग गया और उसने शरारत के साथ मेरी दोनों निपल्स को जोर जोर से मसलना शुरू कर दिया। मैं “ओहह्ह्ह…ओह्ह्ह्ह…अह्हह्हह…अई..अई. .अई… उ उ उ उ उ… आराम से करिये जी!! मैं लड़की हूँ कोई खिलौना नही” बोलने लगी
जवान ने मुझे कंधे से पकड़ लिया और अपनी तरफ खींचा और फिर से मेरे रसीले होठ चूसने लगा। अब वो दो काम एक साथ कर रहा था। दूध की छातियाँ भी मसल रहा था और चुम्मा भी ले रहा था।
“मैडम!! आज आपके साथ सेक्स करने का मन है” वो बोला
“तो कर लीजिये जी!! रोका किसने है” मैंने कहा
जवान ने मेरी टी शर्ट को उपर किया और मेरी जींस की बटन खोलने लगा। फिर जींस की चेन खोल उनसे हाथ अंदर हाथ दिया। मेरी पेंटी में उसका हाथ पहुच गया। चूत की सीधी दरार को वो ऊँगली से घिसने लगा। मैं फिर से आह आह सी सी करने लगी। जवान ने अब अब पेंटी में हाथ घुसा दिया और मुझे हल्का का उचकाकर चूत में एक ऊँगली घुसा दी। मैं दर्द से चीख पड़ी अईईई!!!। अब जवान ने मेरे मुंह में अपना सीधा हाथ दे दिया और नीचे चूत में ऊँगली चलाने लगा। मैं सब कुछ हार गयी और मजबूरन मुझे अपने घुटने खोलने पड़े। जवान जल्दी जल्दी मेरी बुर में ऊँगली करने लगा। मैं विवश होकर “आआआअह्हह्हह…..ईईईईईईई….ओह्ह्ह्….अई. .अई..अई…..अई..मम्मी….” करने लगी। अब उसे और बल मिलने लगा।
जल्दी जल्दी ऊँगली करने लगा और 5 7 मिनट बाद मेरी बुर अपना रस छोड़ने लगी। जवान से जल्दी से ऊँगली चूत से निकाली और मुंह में लेकर चाट गया। फिर से उसने चूत में वही ऊँगली फिर से घुसा दी और मेरी बुर को अब तेजी से फेटने लगा। इस तरह वो मेरे रस को कभी अपना चाट जाता तो कभी मेरे मुंह में डालकर चटवा देता। मैं उसका अंगूठा चूसती रही. मिलिट्री जवान बड़ा सेक्सी मर्द निकला। फ्रेंड्स 20 मिनट उसने मुझे छोड़ा ही नही। लगातार चूत में ऊँगली करता रहा जैसे सालो से उसे चूत के दर्शन न हुए हो। इस दौरान मैं एक बार झड़ गयी। जवान ने अपनी काम क्रीड़ा करके मेरी पूरी पेंटी को गीला कर दिया।
“मैडम! नंगी हो जाइये। आजतक मैंने अपने देश की सेवा की है। पर आज आपनी सेवा करूंगा” वो बोला
“मैं भी आपने चुदने को मर रही हूँ। आज आप भी मेरी चूत को फाड़ देना। रहम मत करना” मैंने भी किसी छिनाल औरत की तरह कहा
उसके बाद फ्रेंड्स मैंने अपनी टी शर्ट और जींस उतार दी। जवान ने अपनी पेंट और बाकी कपड़े उतार दिए। जब वो मेरे सामने नंगा होकर मुड़ा तो उसका लंड देखकर मुझे बहुत ख़ुशी हुई। 10” का ताकतवर हाथियार आज मेरी सेवा करने जा रहा था। मैं उसकी बर्थ पर लेट गयी।
“आइये जी!! चोदिये आकर मुझे” मैंने कहा
मैं दोनों टाँगे खोलकर उसकी ही बर्थ पर लेट गयी। वो मेरे उपर आ गया। बड़ी हैरानी ने सिर से पाँव तक मेरे सेक्सी जिस्म को देख रहा था। जल्द ही मुझे वो बाहों में भरने लगा और ऐसे प्यार करने लगा जैसे मैं उसकी गर्लफ्रेंड हूँ। उसने फिर से मेरी 36” की चूचियों को हाथ से दबाना शुरू कर दिया। फ्रेंड्स आप लोगो को बता दूँ की मेरे दोनों दूध खुदा के बनाये हुए अनमोल रतन थे। बड़े बड़े गर्व से तने और बिलकुल दुधिया। सफ़ेद चूचियों पर काले काले गोलों बड़ी शोभा दे रहे थे। मिलिट्री जवान बड़ी ध्यान से मेरे बूब्स को पास से देख रहा था और रसीली चूचियों को सिर्फ देख देखकर उसे बहुत आनन्द आ रहा था। कुछ देर तक मेरे यौवन को निहारता रहा। फिर मेरे संतरे को मुंह में लेकर जल्दी जल्दी चूसने लगा। मैं “……मम्मी…मम्मी…..सी सी सी सी.. हा हा हा …..ऊऊऊ ….ऊँ. .ऊँ…ऊँ…उनहूँ उनहूँ..” करने लगी। जवान अब मुझ पर पूरी तरह से लट्टू था। वो मेरे दूध पकड़ पकड़ कर मजे से चूस रहा था। इस दौरान मुझे बड़ा आनन्द मिल रहा था। 5 मिनट बाद उसने मेरी दूसरी चूची मुंह में ले ली और मुंह चला चलाकर प्यासा होकर चूसने लगा। उसे देखकर लगा की कितने सालो से उसे किसी लड़की का दूध पीने को नही लिया है।
“मैडम!! आप तो उपर वाले की बहतरीन रचना है। जो मर्द आपसे शादी करेगा उसकी लाइफ समझ लो सेट हो गयी। उसे रोज आप जैसी हसींन औरत की चूत चोदने को मिलेगी। कितना नसीब वाला होगा वो!!” वो भावुक होकर बोला
“आप भी किसी हीरो से कम नही है। आपका लंड भी बड़ा शानदार है। जो लड़की आपसे शादी करेगी उसकी भी बल्ले बल्ले रहेगी। अपना 10” का शानदार लंड उसे रोज खाने को मिलेगा” मैंने कहा
अब मिलिट्री जवान नीचे बढ़ने लगा। मेरे गोरे गद्देदार पेट को दोनों हाथ से सहलाने लगा। मुझे गर्म करके किस करने लगा। मैने भी खुद को उसने हवाले कर दिया। मेरे पेट पर उसने खूब चुम्मा लिया और नीचे बढ़ने लगा। अब मेरी चिकनी चमेली चूत पर वो आ गया और होठो से लगाकर मेरी बुर चाटने लगा। मैं तडप कर “…….उई. .उई..उई…….माँ….ओह्ह्ह्ह माँ……अहह्ह्ह्हह—आराम से करिये जी!!” कहने लगी. जवान मेरी चूत की एक एक कली को चूसने लगा। उसे न जाने कितना आनंद आ रहा था। मैंने उसके बाल नोचने लगी। वो 18 20 मिनट तक मेरी चुद्दी से तरह तरह से खेलता रहा। फिर वो मेरे उपर ही चढ़ गया और अपने 10” लंड को चूत में घुसा दिया और पक पक चोदने लगा। इधर मैं भी प्यासी होने लगी। उसकी पीठ पर मैंने अपने नाख़ून गड़ाने शुरू कर दिए। मिलिट्री जवान सट सट चूत में धक्के देने लगा तो मैंने अपनी टाँगे और फैला दी। “…….उई. .उई..उई……. कर रही थी। जवान के दोनों पुट्ठो को हाथ से अंदर चूत में दबा रही थी जिससे उसका लंड आज मेरी चूत को अच्छे से फाड़ दे। चुदाई शुरू होने के बाद काफी देर तक चूत सुखी ही रही। पर जब जवान काम लगाये रहा तो अंत में मेरी चूत से तेल यानी की रस निकलने लगा। सफ़ेद रंग की गाढ़ी क्रीम अब बार बार चूत से निकल रही थी और मेरे गांड के सुराख में जा रही थी।
“आह चोदिये जी!! आप बड़े सेक्सी मर्द है और कसके पेलिए मुझे जी!! अंदर और अंदर!!” मैंने कामुकता में आकर कहा
“ले साली!! आज तू भी गैर के लौड़े से अपनी प्यास बुझा ले!! ले साली!!” जवान वासना में लाल आँख से बोला और फिर उसने 4 नम्बर गियर मेरी चूत में लगा दिया। बहनचोद ने मुझे 50 मिनट छोड़ा ही नही। किसी धोबी की तरह मेरी चुद्दी घिसता रहा बस घिसता रहा। इस बीच मैं दूसरी बार झड़ गयी। मेरी चूत से बहुत रस निकला। फिर जवान चूत में ही शहीद हो गया। हम दोनों के जिस्म आपस में अकड गये।काफी देर तक उसने मुझे अपने नंगे बदन से चिपकाए रखा। फ्रेंड्स अपनी पेंटी से चूत साफकर मैं उसके साथ ही उसकी बर्थ पर लेट गयी। उसने मुझे दुबारा पेंटी पहनने को मना कर दिया। हम दोनों सो गये। सुबह उसने मुझे फिर से लंड पर बिठाकर चोदा। 8 बजे मेरी ट्रेन रांची रेलवे स्टेशन पहुच गयी। हम दोनों अपना अपना लगेज लेकर ट्रेन से उतर गये। जवान अपने रास्ते चला गया और मैंने अपने रास्ते चली गयी। पर उसकी ताबड़तोड़ ठुकाई मुझे आज भी रोज याद आ जाती है।
आपको स्टोरी कैसी लगी मेरे को जरुर बताना और सभी फ्रेंड्स नई नई स्टोरीज के लिए नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पढ़ते रहना। आप स्टोरी को शेयर भी करना।

कहानी एक्स डॉट कॉम याद रखें रोजाना अपडेट होता है बहुत ही ज्यादा सेक्सी कहानियां है

loading...